रोज़ा खोलने की दुआ – इफ्तार की दुआ |

Roza kholne ki duaa

रोज़ा खोलने की दुआ – इफ्तार की दुआ | रमज़ान का महीना वह है जिसमें क़ुरआन नाज़िल हुआ; लोगों के लिए एक हिदायत, और हिदायत की खुली निशानियाँ और (सही और ग़लत की) कसौटी। और तुम में से जो कोई सेहतमंद हो वह इस महीने के रोज़े रखे, और तुम में से जो कोई रोगी हो या सफ़र पर हो, वह बाद में यह रोज़े रख सकता है । अल्लाह तुम्हारे लिए आसानी चाहता है; वह तुम्हारे लिए मुश्किलें नहीं चाहता; और यह कि तुम समय को पूरा करो, और यह कि तुम अल्लाह की तारीफ करो कि उसने तुम्हें रास्ता दिखाया, और कि शायद तुम कृतज्ञ हो। [कुरान 2:185]

कहा जाता है कि लैलात अल-क़द्र की रात साल की सबसे पवित्र रात होती है। [55] [56] आम तौर पर यह माना जाता है कि यह रमजान के आखिरी दस दिनों के दौरान विषम संख्या वाली ( 21, 23, 25 ) रात में होती है | ; दाउदी बोहरा मानते हैं कि लैलात अल-क़द्र रमज़ान की तेईसवीं रात थी।

रोज़ा रखने के फायदे – रमजान

रमजान के रोज़े के कई प्रकार के स्वास्थ्य लाभ हैं। रमजान के दौरान रोज़ा स्वस्थ लोगों के लिए जोखिम मुक्त के रूप में देखा जाता है, लेकिन यह उन लोगों के लिए खतरनाक हो सकता है जिनके पास पहले से ही किसी प्रकार की कोई बीमारी हैं। अधिकांश इस्लामी विद्वान इस बात से सहमत हैं कि जो लोग बीमार हैं उन्हें उपवास की आवश्यकता से छूट दी गई है। युवावस्था से पहले के बुजुर्गों और छोटे बच्चों को भी रोज़े से छूट दी जाती है। [119] गर्भवती या स्तनपान कराने वाली महिलाओं को भी रमजान के दौरान उपवास से छूट दी गई है। [120] रोज़ा रखने वाली गर्भवती महिलाओं में ज्ञात स्वास्थ्य जोखिम शामिल हैं, जिनमें प्रेरित श्रम और गर्भकालीन मधुमेह की संभावना शामिल है।

रमजान के दौरान रोज़ा रखने से विभिन्न स्वास्थ्य लाभ होते हैं, जैसे इंसुलिन संवेदनशीलता में सुधार और इंसुलिन प्रतिरोध को कम करना। इसके अतिरिक्त, यह प्रदर्शित किया गया है कि हृदय रोग के इतिहास वाले विषयों में उनके 10 साल के कोरोनरी हृदय रोग जोखिम स्कोर के साथ-साथ उनके लिपिड प्रोफाइल, सिस्टोलिक रक्तचाप, वजन, बीएमआई जैसे अन्य हृदय संबंधी जोखिम कारकों में महत्वपूर्ण सुधार का अनुभव होता है। , और कमर परिधि। उपवास के चरण के दौरान वजन कम होना आम तौर पर काफी कम होता है, हालांकि बाद में वजन बढ़ना संभव है।

रोज़ा खोलने की दुआ – इफ्तार की दुआ |

अल्लाहुम्मा इन्नी लका सुमतु वा बिका आमंन्तु वा ‘ आलइका तवक्कलतु वा ‘ अला रिज़की का अफ्तरतु |

.اَللّٰهُمَّ اِنَّی لَکَ صُمْتُ وَبِکَ اٰمَنْتُ وَعَلَيْکَ تَوَکَّلْتُ وَعَلٰی رِزْقِکَ اَفْطَرْتُ

O, Allah! I fasted for you and I believe in you and I put my trust in You and I break my fast with your sustenance.

Roza kholne ki Duaa- iftar ki Duaa

” Allahhumma inni laka sumtu wa bika aamantu wa alayka tawakkaltu wa ala rizq- ika aftartu”

Roza rakhne ki Dua – sehri ki duaa

Roza rakhne ki Dua – Bisomi gadin nawaitu min shehre Ramzan.

.وَبِصَوْمِ غَدٍ نَّوَيْتُ مِنْ شَهْرِ رَمَضَانَ

.’’اورمیں نے ماہ رمضان کے کل کے روزے کی نیت کی‘‘

I Intend to keep the fast for month of Ramadan.

रोज़ा रखने की दुआ – सहरी की दुआ

बिसौमि गदिन नवैतु मिन शहरे रमज़ान |

Ramadan

Roza Kholne Ki Dua – Roza iftar krne ki dua

Roza kholne ki dua is generally used to open Roza. Basically, we Muslims have a holy month called Ramadan. It is a 30-day period during which we fast in Sehri (around 4 to 5 a.m.) and open Roza in iftyar, where we recite this prayer known as Roza kholne ki duaa.

After 30 Days of Ramzan, we celebrate Eid. Eid is a festival of joy and happiness. where we thank Allah subahano Tala that they gave us Sabr ( patience ).

The Quran was revealed during Ramadan, providing direction for humanity, abundant evidence of that guidance, and the standard (of right and wrong). And whoever is here among you should observe the month-long fast; likewise, whoever is ill or traveling should observe the fast for a few additional days. Allah wants you to experience ease; He does not want you to experience suffering. He also wants you to get through the time period without incident, to praise Allah for guiding you, and possibly even to feel grateful. [Quran 2:185]

Prayer to open Ramadan fastروزہ افطار کرنے کی دعا

اَللّٰهُمَّ اِنَّی لَکَ صُمْتُ وَبِکَ اٰمَنْتُ وَعَلَيْکَ تَوَکَّلْتُ وَعَلٰی رِزْقِکَ اَفْطَرْتُ.

Meaning of this prayer. ( Iftar prayer meaning )

’’اے اللہ!میں نے تیری خاطر روزہ رکھا اور تیرے اوپر ایمان لایا اور تجھ پر بھروسہ کیا اورتیرے رزق سے اسے کھول رہا ہوں۔‘‘

Iftar Prayer Meaning in English

O, Allah! I fasted for you and I believe in you and I put my trust in You and I break my fast with your sustenance.

रोज़ा खोलने की दुआ हिंदी में |

रोज़ा खोलने की दुआ – अल्लाहुम्मा इन्नी लका सुमतु वा बिका आमंन्तु वा ‘ आलइका तवक्कलतु वा ‘ अला रिज़की का अफ्तरतु |

Roza kholne ki DuaRoza iftar krne ki duaa

Roza kholne ki Dua -” Allahhumma inni laka sumtu wa bika aamantu wa alayka tawakkaltu wa ala rizq- ika aftartu”

रोज़ा रखने की दुआ –

रोज़ा रखने की दुआ- बिसौमि गदिन नवैतु मिन शहरे रमज़ान |

रोज़ा खोलने की दुआ |

भालू पोएम- Bhalu poem for kids

bhalu Hindi poem

भालू पोएम- Bear poem for kids in Hindi | बच्चो के लिए हिन्दी पोएम | भालू , शेर , हाथी , लोमड़ी बच्चो को बहुत पसंद होते हैं इनको देखना इनकी पोएम सुनना इनकी कहानी पढना बच्चे बहुत पसंद करते हैं इसी कको देखते हुए हमने यह पोएम बनाई है | इसी तरह की पोएम , कहानी आदि पढने के लिए हमारी website के होम पेज पर जाएँ |

भालू आया भालू आया,
साथ में अपने चूरन लिया |
उसका चूरन बड़ा ही स्वादु ,
जिसको खाते हाथी दादू |
भालू का चूरन शेर को भी भाया ,
ख़ूब मज़े से सबने खाया |

English font

Bhaalu aaya bhaalu aaya ,
saath mein apne churan laaya |
uska churan bada hi swaadu,
jisko khaate haathi daadu |
bhalu ka churan sher ko bhi bhaya ,
khoob maze se sabne khaaya |

25 फलो के नाम | 25 fruits name | आपको यह पोएम केसी लगी कमेंट करके ज़रूर बताएं साथ ही आपको अगर किसी और विषय पर पोएम चाहिए तब भी आप कमेंट करके बता सकते हैं | इसी तरह की मनोरंजक कविताएँ , कहानियां पढने के लिए हमारे होम पेज पर जाएँ |

बच्चो के लिए हिन्दी पोएमक्लिक करें

Ganesh Aarti In Hindi – Jai Ganesh Jai Ganesh Deva

Ganesh arti

Ganesh Aarti In Hindi-

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा ॥

एक दंत दयावंत, चार भुजा धारी ।
माथे सिंदूर सोहे, मूसे की सवारी ॥

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा ॥

पान चढ़े फल चढ़े, और चढ़े मेवा।
लड्डुअन का भोग लगे, संत करें सेवा ॥

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा ॥

अंधन को आंख देत, कोढ़िन को काया ।
बांझन को पुत्र देत, निर्धन को माया ॥

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा ॥

‘सूर’ श्याम शरण आए, सफल कीजे सेवा ।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा ॥

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा ॥

दीनन की लाज रखो, शंभु सुतकारी ।
कामना को पूर्ण करो, जाऊं बलिहारी ॥

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा ।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा ॥

Ganesh Aarti In Hindi

पूजन विधि

गणेश जी की पूजा करने के लिए, पहले स्नान करके शुद्ध होना चाहिए। इसके बाद, आप पूर्व की ओर मुख किए हुए आसन पर बैठ जाएं। यदि सामने गणेश जी की मूर्ति या तस्वीर हो तो अच्छा है। हाथ में चावल, फूल और दूर्वा लेकर आरती करने के बाद गणेश जी का ध्यान करना चाहिए।

108 NAMES OF DURGA IN HINDI AND ENGLISHclick here

बुरी संगत | शेर और भेडिये की कहानी

lion and wolf story

बुरी संगत | शेर और भेडिये की कहानी बुरी संगत |

किसी जंगल मे एक आलसी और दुष्ट भेड़िया रहता था | वह कुछ काम नही करता था और इसी जुगाड़ मे रहता था कोई उसके लिए शिकार का इंतेज़ाम कर दे| एक दिन उसकी मुलाकात एक नोजवान शेर से हुई | उसने उसे मीठी मीठी बाते करके अपनी मित्रता के जाल मे फंसा लिया |शेर के माता पिता जानते थे भेड़िया बहुत दुष्ट है इसलिए उन्होंने शेर को पहले ही चेतावनी दी हुई थी कभी भी भेडिये से दोस्ती मत करना | उसके वजह से तुम मुसीबत मे पड़ सकते हो इसलिए उससे हमेशा दूर रहना | लेकिन शेर ने उनकी बात नही मानी और भेडिये से दोस्ती करली |

अब शेर और भेड़िया अच्छे दोस्त बन गए थे | शेर शिकार करके लाता और भेड़िया और शेर दोनों मिलकर उसको खाते थे | एक दिन भेडिये की नज़र घोड़ो पर पड़ी वह झील के किनारे पानी पी रहे थे | घोड़ो को देख कर भेडिये के मुंह मे पानी आ गया | उसने एक योजना बनाई केसे वो शेर को घोड़े का शिकार करने के लिए राज़ी करेगा |

उसने जाकर शेर को बोलो हम रोज़ बकरी और दुसरे जानवर खा कर बोर हो गए हैं क्योँ ना कुछ अलग किया जाये |शेर बोला तुम क्या कहना चाहते हो भेड़िया बोला मेने झील के किनारे बहुत अच्छे घोड़े देखे हैं और मेने सुना है घोड़ो का मॉस खा कर बहुत शक्तिशाली हो जाते हैं तुम उनका शिकार करो | शेर ने कहा ठीक है तुम मुझे उस झील के पास ले जाओ जहाँ घोड़े आते हैं मे उनका शिकार करूंगा | भेड़िया शेर को वहां ले गया और शेर झाड़ी के पीछे छुप गया जेसे ही घोड़े वहां आये शेर ने हमला करके एक घोड़े को पकड़ लिया और शेर और भेडिये दोनों ने उसकी दावत उडाई |

बुरी संगत | शेर और भेडिये की कहानी |

शेर के माता पिता को जब इस बात का पता चला की शेर ने घोड़े का शीकार किया है वो बहुत परेशान हो गए क्यूंकि उनको पता था वह घोड़े राजा के हैं और राजा को अगर यह बात पता चली तो वह शेर को मरवा देंगे | उन्होंने शेर को बुलाया और समझाया बेटा तुम भेडिये से दूर रहो उसकी संगत अच्छी नही है वह तुम्हे मुसीबत मे डाल देगा | तुम जिस घोड़ो का शिकार कर रहे हो वह राजा के हैं और राजा को अगर यह बात पता चल गई वह तुम्हे मार देगा |

लेकिन शेर ने अपने माता पिता की एक नही सुनी और वहां से चला गया | और रोज़ घोड़े का शिकार करने लगा जब यह बात राजा को पता चली उसने अपने महल मे ही घोड़ो के लिए पानी का इंतेज़ाम कर दिया वह शेर को नही मारना चाहता था क्यूंकि वह शेर के माता पिता को जानता था | शेर के माता पिता राजा के दोस्त थे |

moral stories पढने के लिए क्लिक करें

लेकिन भेड़िया बहुत दुष्ट था |उसने शेर को भड़का दिया तुम बहुत ताकतवर हो तुम राजा के महल मे जाकर भी घोड़े को मार कर ला सकते हो | तुम बहुत ताकतवर हो तुम्हे डरने की कोई ज़रूरत नही है | शेर ने सोचा भेड़िया सही कह रहा है, तभी तो राजा ने मुझसे डरकर घोड़ो को अपने महल मे रख लिया है |

यह सोचते हुए वह घोड़े के शिकार के लिए महल की तरफ चल पड़ा | जब राजा ने शेर को महल मे देखा उसको बहुत गुस्सा आया और उसने अपने सैनिक को आदेश दिया शेर को मार डालो | सनिको ने तीर कमान से उसपर वार किया और उसको मार डाला |भेड़िया डर कर वहां से भाग गया , पर शेर को अपने माता पिता का कहना ना मानने के कारण अपनी जान गवानी पड़ी |

जो अपने बडो का कहना नही मानता , और बुरे लोगो की संगती मे रहता है उसे इसी तरह अपनी जान गवानी पडती है |

घोटालो की दुनिया – Corruption Hindi poem

ghotalo ki duniya- Corruption Hindi poem

घोटालो की दुनिया – Corruption Hindi poem | चारो तरफ घोटालो का बोल बोला है इसी के ऊपर कुछ पंक्तियाँ हमने लिखी है | motivational पोएम , पेड बचाओ पोएम आदि पढने के लिए क्लिक करें – shayari

घोटालो की दुनिया | corruption Hindi Poem |

घोटालों का चित्र तुम्हे भी आज बताने आया हूँ

सोया भारत क्योँ न जागा उठो जगाने आया हूँ

सोने की चिड़िया देश हमारा कहा कभी ये जाता था

सोना लूटा नेताओ ने , चिड़िया को मरवाया था

बच्चो जेसे खेल खिलाये राजनीति के नाम पर

सत्ताधारी सत्ता लूटे भगवान तेरे नाम पर

सवतंत्र भारत को लूटा तुमने , घोटालो में नाम दिया

भारत माँ की छाती पर ही, तुमने नंगा नाच किया

अगर देश में नेता न हो , तो आधा देश बर्बाद है

बिगड़ा नेता यहाँ मिला तो, भारत का सत्यानाश है |

भूखे नंगे लोग यहाँ पर , पहले करते थे चोरी ,

नेताओ की कोन भूख है, भरते रहते नित बोरी

आचरण न पावन जिसका , केसा नेता आया है

घोटालों में आज बंधुओ, भारत ने नाम कमाया है

माल मलीदा खा खा फटके, पेट सदा ही भरते हो

गरीब बेचारा भूखा मरता उसका ध्यान न धरते हो

किसने गायों का चारा खाया, किसने शक्कर मारी है |

अरे नेता जी ! हमे बता दो आगे क्या तेयारी है |

इस देश का मेरे क्या होगा ? | Ghotalo ki duniya |

जहाँ रक्षक, भक्षक बन जाये

उस, देश का मेरे क्या होगा ?

जहाँ देश नेता बन जाये , उस देश का मेरे क्या होगा

दम तोड़ रही मानवता

आतंक के सख्त शिकंजे में ,

जहाँ भ्रष्टाचार की जय होती , उस देश का मेरे क्या होगा

कैदी की आंख फोड़ रहे ,

अबला की अस्मत लूट रहे

नारी को जिंदा जलाकर

केवल धन दोलत के खातिर

जहाँ ऐसे नर पिशाच बसें , उस देश का मेरे क्या होगा

मजदूरों का शोषण कर करके

पूंजीवादी फल फूल रहे

जहाँ बसे ऐसे कर्णधार हो उस देश का मेरे क्या होगा |

Hindi poetry on life-Zindagi Ek paheli

poem on life

Hindi poetry on life – ज़िन्दगी एक पहेली

ये जिंदगी भी अजीब है | Poetry on Life

ये जिंदगी भी अजीब है
ये क्या है मुझे क्या पता
ये क्योँ है मुझे क्या खबर

कुछ दिनों की चमक धमक
कुछ दिनों की गम ज़दा
कभी खुशी हुई तो कभी रो पड़ी
कभी इस पहर तो कभी उस पहर


इस मुक्कमल जहान में भी
पुरसुकून की तलाश थी
कभी बोल केर वो चुप रही
कभी चुप होकर भी बोल पड़ी

चंद लम्हो में भिखर गयी
चंद लम्हो में उभर गयी

चन्द लम्हों में निखर गयी
ये जिंदगी भी अजीब है
ये क्या है मुझे क्या पता
ये क्यों है मुझे क्या खबर

कभी छीन कर वो ले गई
कभी देकर भी वो चली गई

कभी उन शोहरतों पर ले गयी
कभी जिल्लतों पर उतार गयी
चलो शिकवा नहीं करू कभी

मुख़्तसर सा ही अख्तीयार है

ये जिंदगी भी अजीब है
ये क्या है मुझे क्या पता
ये क्योँ है मुझे क्या खबर

कभी हिम्मत भी दिला गयी

और बुजदिलों से भी मिला गयी

खुद को ना मिटा ज़रा ये बात भी वो कह गयी

पाया जब खुद को तनहा तो समझ भी वो दिला गयी

न रहेगा तेरा कोई तेरे खुदा के सिवा

ये बात भी वो बोल गयी

ये मुख़्तसर सी ज़िन्दगी है

कभी इस पहर तो कभी उस पहर

ये जिंदगी भी अजीब है
ये क्या है मुझे क्या पता
ये क्यों है मुझे क्या खबर

Zindagi Ek paheli

यूँ ही चलती रहती ज़िन्दगी

न होती गर्मी की बोछारे

न होती सर्दी की फुहारे

आम हो जाता आम आदमी का जीना

हल्दी सी पिली शक्लो पर छाई है केसे बेबसी

जम गया पानी भी आँखों का , रोने को केसी बेबसी

रोना किससे हसना किससे

कोन है दाता कोन सुनवाता

कोई न दुःख को हरने वाला

छोटी छोटी भेंट चढ़ाकर नाम कमाते आगे जाते

चमचम करती गाड़ी उनकी मुहं बनाती हंसती जाती

पत्ते से गिर कर खो जाते मिटटी में मिलकर रह जाते

खुश्की से सूखे होंटो पर हंसी भी डूबकर खो जाती

इतनी आबादी कोन गिने , कितने छूटे कितने गिरे

हँसना नन्ही सी कलियों , खा जाये धरती भूखी सी नज़रे

कह-कहकर थक गये सभी ,

रुका ना कुछ , ना कुछ हुआ है अभी

काश ! ज़िन्दगी बन जाये सपनो की रानी

फिर यूँ ही चलती रहे जिंदगानी |

happy birthday video status-birthday wishes

happy birthday video status | दोस्तों आपके साथ हम जन्मदिन की videos status share कर रहे हैं इनको आप आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं | यह विडियो डाउनलोड करने के लिए आपको snaptube install करना होगा |

Happy birthday video status

Love Birthday wishes

हर लम्हे आपके होंटो पर मुस्कान रहे

हर गम से आप अनजान रहें

जिसके साथ महक उठे आपकी ज़िन्दगी

हमेशा आपके साथ वही इन्सान रहे …Happy Birthday

Happy birthday images
Happy birthday wishes images

birthday video status

Happy Birthday status video

जन्मदिन की शुभकामनायें

उगता हुआ सूरज आज दुआ दे आपको

खिलता हुआ गुलाब खुशबु दे आपको

हम तो कुछ खास देने काबिल नही हैं

देने वाला लम्बी उम्र दे आपको

Birthday wishes image
Birthday wishes images

Birthday wishes status with Photo

birthday wishes video with photo

Lovely birthday blessing

जन्मदिन पर आपके हम देते हैं ये दुआ

खुशियाँ आपके दामन से न हों कभी जुदा

खुदा की रहमतो में कभी कमी ने आये

आपके होंठो की ये मुस्कराहट न जाये …Happy Birthday

Lovely birthday wishes

आसमान की बुलंदियों पर नाम हो आपका

चाँद की धरती पर मुकाम हो आपका

हम तो रहते हैं छोटी सी दुनिया में ,

पर खुदा करे सारा जहाँ हो आपका …wish you a very happy birthday

ख़ुशी खुद ख़ुशी मांगे आपसे

ज़िन्दगी जिंदा दिली मांगे आपसे

इतना उजाला हो आपके मुकद्दर में

की चाँद भी रौशनी मांगे आपसे … wish you a very happy birthday

click here for more shayari & status

Motivation Poems in Hindi-Haar mat mano

Motivational Poem

Motivational Poems in Hindi | प्रेंरादायक हिन्दी कविता | shayari और insta status के लिए क्लिक करें – Shayari

Motivational Poem in Hindi | प्रेंरादायक हिन्दी कविता |

हम तो हम हैं

इस बात में कितना दम है

एक बार अपने को पहचान कर तो देखो

अन्दर छुपे शेर को निकालकर तो देखो

आप भी कहोगे , हम तो हम हैं

इस बात में कितना दम है |

अपने को कम और दुनिया को ज्यादा जानते हो

दुनिया को अपनी नज़र से

अपने को दुनिया की नज़र से पहचानते हो

एक बार खुद को , खुद की नज़रों से देख कर तो देखो

खुद भी कहोगे , हम तो हम हैं इस बात में कितना दम है |

प्रेंरादायक हिन्दी कविता | पीछे हटना नही

मुश्किल से कभी दोस्तों डरना नही |

लाख तूफान हों पीछे हटना नही |

दर्द साइन का तो है ज्यादा तेरा |

खुशियाँ होंगी सदा ये है वादा मेरा |

हिम्मतो से ए दोस्त आगे बढ़ते चलो |

मुश्किलों के in पहाड़ पे चढ़ते चलो |

मन में विश्वास और कुछ भी करना नही |

लाख तूफान हो पीछे हटना नही |

कुछ की ममता को बदल उड़ा ले गया |

कुछ का सिंदूर सावन बहा ले गया |

आँख तो फिर भी नाम रहेगी सदा उनकी यहाँ |

फिर भी तनहा अपने को समझना नही |

लाख तूफान हो पीछे हटना नही |

ज्योत से ज्योत दिल की जलाते रहो |

प्रेम दुसरे पर लुटाते रहो |

कंधो पे बोझ लाख हो गिरना नही |

लाख तूफान हो पीछे हटना नही |

Motivational Poems in Hindi | प्रेरक कवितायें

प्रेंरादायक हिन्दी कविता |
Motivational POEM

लक्ष्य नही जिनके जीवन का

वो ऐसे ही रह जाते हैं

जेसे लाखो हजारो पत्ते , दरिया में बह जाते हैं

सफलता उन्ही को मिलती है

जिनके सपनो में जान होती है

पंख से कुछ नही होता

होंसले से उड़ान होती है

कोन पुहंचा है अपनी आखरी मंजिल तक

हर किसी के लिए थोडा आसमान बाकी है

ये तुझको लगता है तू उड़ान के काबिल नही

जज़्बा कहता है तेरे पंखो में उड़ान बाकी है

निराशो में आस पैदा करता है

दिलो में विश्वास पैदा करता है

मिटटी की तो बात अलग है

ईश्वर तो पत्थरों में कोमल घांस पैदा करता है |

Motivational Poem in Hindi | प्रेंरादायक हिन्दी कविता |

Motivational Poem Hindi
Motivational Poem Hindi

जो करना था वो नही किया

क्योँ कर्म से कतराते हो

खुद दूर खड़े हो मंजिल से

और मंजिल दूर बताते हो

जब चले वक़्त के साथ नही

फिर पीछे क्योँ पछताते हो

बीत रहे हो खुद ही तुम

और बीता वक़्त बताते हो |

तुम न दे पाए पहचान कोई

तुम मस्त रहे हो अपने में

भोगो ने तुमको भोग लिया

तुमने भोग क्योँ बतलाते हो |

इसलिए उठो और उठ कर चल दो

उठकर ही कुछ कर पाओगे

पहुँचोगे जल्दी मंजिल पर

और मंजिल दूर न पाओगे |

Save Trees Hindi Poem-Save Life

save tree poem

SaveTrees Hindi Poem| पेड़ो को मत काटना | पेड़ो को हमारे जीवन में बहुत महत्व है | पेड हमे शुद्ध हवा, जीने के लिए आक्सीज़न ,फल , छाँव ऐसी बहुत सारी चीज़े देते हैं फिर भी आज बहुत तेज़ी से पेड़ो की कटाई हो रही है | अगर हमे जीवन बचाना है तो पेड़ो को कटने से बचाना होगा | इसी पर एक छोटी सी कविता जो वनों का महत्व बताती है –

Save Tree Hindi Poem

पेड़ो को मत काटने देना, चिडियों को मत रोने देना ,

पड़ी हैं उनका रेन बसेरा , उसे कभी न उजड़ने देना |

हर शाखा पर हर पत्ती पर अपने अपने सोते है ,

शाखा कटने पर वे अपने शिशुओ सा रोते हैं |

पेड़ो के संग बढना सीखो , पेड़ो के संग खिलना ,

पेड़ो के संग-संग इतराना पेड़ो के संग हिलना |

बच्चे और पेड दुनियां को हरा-भरा रखते हैं

नही समझते जो इस सच को वो उसका फल चखते हैं |

वह भोले हैं जो हर दिन पेड़ो को काट रहे हैं

जहर फेफड़ो में भरकर बच्चो में बाँट रहे हैं |

Save Trees- Save Life

पेड़ो को मत काटना |वनों का महत्व |

क्या अपराध किया पेड़ो ने

पूछ सभी लो पेड़ो से

जिन पर आरी चला चला क्योँ

छाया छिनी पेड़ो से

प्रदूषण के विरुद्ध तरुनित

करते सदा लड़ाई

फिर भी प्यार मिला न उनको

होती खूब कटाई

देख पेड़ो को मानव के धन

घुमड़ घुमड़ घिर आते

धरती की प्यारी काया पर

शीतल जल बरसाते

निष्प्राण तरु को मत करो मानव

बर्बरता अपनाओ न

धरती के श्रृंगार तरु का

मानव वंश मिटाओ न

आक्सीजन के जनक तरुनित

मानव को हैं सुख पहुंचाते

ज़हरीली वायु का विष पी ,

‘भू’ पर हरित क्रांति late

तरु – पेड , भू – ज़मीन ,

हमे अगर जीवन बचाना है तो ज्यादा से ज्यादा पेड पोधे लगाने पड़ेंगे तभी हमे साँस लेने लायक हवा मिलेगी | हमारी और knowledge related पोस्ट पढने के लिए क्लिक करें – Knowledge