भालू पोएम- Bhalu poem for kids

bhalu Hindi poem

भालू पोएम- Bear poem for kids in Hindi | बच्चो के लिए हिन्दी पोएम | भालू , शेर , हाथी , लोमड़ी बच्चो को बहुत पसंद होते हैं इनको देखना इनकी पोएम सुनना इनकी कहानी पढना बच्चे बहुत पसंद करते हैं इसी कको देखते हुए हमने यह पोएम बनाई है | इसी तरह की पोएम , कहानी आदि पढने के लिए हमारी website के होम पेज पर जाएँ |

भालू आया भालू आया,
साथ में अपने चूरन लिया |
उसका चूरन बड़ा ही स्वादु ,
जिसको खाते हाथी दादू |
भालू का चूरन शेर को भी भाया ,
ख़ूब मज़े से सबने खाया |

English font

Bhaalu aaya bhaalu aaya ,
saath mein apne churan laaya |
uska churan bada hi swaadu,
jisko khaate haathi daadu |
bhalu ka churan sher ko bhi bhaya ,
khoob maze se sabne khaaya |

25 फलो के नाम | 25 fruits name | आपको यह पोएम केसी लगी कमेंट करके ज़रूर बताएं साथ ही आपको अगर किसी और विषय पर पोएम चाहिए तब भी आप कमेंट करके बता सकते हैं | इसी तरह की मनोरंजक कविताएँ , कहानियां पढने के लिए हमारे होम पेज पर जाएँ |

बच्चो के लिए हिन्दी पोएमक्लिक करें

गुब्बारे पोएम – Balloon Hindi Poem for kids

गुब्बारे पोएम | बच्चो के लिए हिन्दी पोएम | छोटे बच्चे को गुब्बारे बहुत पसंद आते हैं | रंग बिरंगे गुब्बारे बच्चो को बड़ा लुभाते हैं | इस पोएम के माध्यम से बच्चे कविता जल्दी सीखेंगे और मजे से याद करेंगे | यह कविता हिन्दी के मशहुर कवि हरिवंश राय बच्चन जी द्वारा लिखी गई है | ( बंदर की शादी पोएम )

गुब्बारों का लेकर ढेर ,
देखो , आया है शमशेर |
हरे , बेंगनी , लाल , सफेद ,
रंगो के हैं कितने भेद |
कोई लम्बा, कोई गोल ,
लाओ पैसे , ले लो मोल |
मुटठी मे ले लो इनकी डोर,
इन्हें घुमाओ चारो और |
हाथों से दो इन्हें उछाल,
लेकिन छूना खूब संभाल |
पड़ा किसी के उपर जोर ,
एक जोर का होगा शोर |
गुब्बारा फट जायेगा ,
खेल खत्म हो जाएगा |
– हरिवंशराय बच्चन

English Font

Gubbaro ka lekr dhair,
dekho aaya hai shamshair
Hare, bengni, Lal , Safed,
Rango ke hain kitne bhaid
koi lmba, koi gol,
Lao paise le lo mol.
Muthi me le lo inki Dor,
inhe ghumao charo aur.
Hatho se do inhe uchal,
lekin chhuna khub smbhal.
Pda kisi ke upr zor,
Aik zor ka hoga shhor.
Gubbara fat jayega,
khail khtam ho jayega. ( Fruits name with Pic )

गुब्बारे पोएम – Balloon Hindi Poem for kids

कितने सुंदर ये गुब्बारे ,
नीले, पीले , लाल , हरे |
लगते जेसे इस धरती पर ,
इन्द्रधनुषी रंग बिखरे |
कई तरह के रंग -रूप के ,
जेसे लड्डू गैस भरे ,
हाथो से ये छूट गये तो ,
आसमान में जा लहरें |
गेंद समझकर हवा खेलती ,
बड़े मज़े से बिना डरे ,
हम भी लेंगे ये गुब्बारे ,
नीले , पीले , लाल हरे |

English Font

Kitne sundar ye Gubbare,
Neele, Peele, Laal, Haare.
Lgte jese is dharti par,
Indardhanushi Rang bikhre.
Kayi trah ke Rang- Rup ke,
Jese Laddu Gas bhare
Hatho se ye Chhoot gye to,
Aasman mai jaa Lehre,
Gend Smjhkar Hawaa Khelti,
Bdee Mazee se Bina daree,
Hum bhi lenge ye Gubbare,
Neele, Peele, Laal, Haare.

ऐसे ही और अच्छी कविता पढने के लिए क्लिक करें – बच्चो के लिए हिन्दी पोएम

मेरी गुडिया पोएम

मेरी गुडिया पोएम | Hindi poem for kids: Meri gudiya hindi poem बच्चो के लिये बनाई हुई आसन Hindi poem जेसे की छोटे बच्चे गुड्डे गुडिया से अधिक लगाव रखते हैं तो वह इस poem से एक जुडाव महसूस करेंगे|

मेरी गुडिया पोएम

डॉक्टर देखो अच्छी तराह,
मेरी गुड़िया रही कराह |
कल बरसा था छम छम पानी|
उसमे भीगी गुड़िया रानी
डॉक्टर डॉक्टर दे दो पुड़िया,
ले जाति हूं अपनी गुड़िया,
जब तक उतरे नहीं बुखार
तब तक पैसे रहे उधार |

funny Hindi poem for kidsहास्य कविता

meri gudiya-Hindi poem
meri gudiya-Hindi poem

English Font

Doctor dekho Achi Traah,
Meri gudiya Rahi Kraah.
kal barsa tha chham chham pani,
usme bhigi gudiya rani.
doctor doctor de do pudiya,
le jati hun apni gudiya,
jab tak utrey nhi bhukar,
Tab tak paise rhe udhar

इस प्रकार की मनोरंजक कविताएँ , हिन्दी कहानियां आदि पढने के लिए वेबसाइट के होम पेज पर जाएँ |बच्चो के लिए हिन्दी कहानियां ,कविताएँ , इंग्लिश पोएम , इंग्लिश story आदि सभी आपको इस website पर मिल जाएँगी | इस website को बुकमार्क करलें ताकि आपको आसानी से हमारी website मिल जाये | कमेंट करके बताएं आपको यह पोएम केसी लगी और अन्य तरह की पोएम के लिए आप कमेंट करके हमे बता सकते हैं |

बच्चो के लिए हिन्दी पोएम – पढने के लिए क्लिक करें

बच्चो के लिए पोएम | Baccho ki poem

Hindi poem for kids

बच्चो के लिए पोएम | छोटे बच्चो के लिए हिन्दी पोएम |

मेरी गुडिया पोएम | Hindi poem for kids|

बच्हिचो की हिन्दी  पोएम
Doll Hindi Poem

डॉक्टर देखो अच्छी तराह,
मेरी गुड़िया रही कराह |
कल बरसा था छम छम पानी|
उसमे भीगी गुड़िया रानी
डॉक्टर डॉक्टर दे दो पुड़िया,
ले जाति हूं अपनी गुड़िया,
जब तक उतरे नहीं बुखार
तब तक पैसे रहे उधार |

प्यारे बच्चो पोएम |

कलियाँ कहती प्यारे बच्चो,
सीखो तुम मुस्कुराना
रंग बिरंगे फूल सिखाते
हँसना और हँसाना |
कोयल कहती मीठा बोलो,
गाओ मीठा गाना |
दीदी कहती सीखो बच्चो
पढ़ना और पढाना |

बच्चो के लिए अन्य दूसरी हिन्दी कविता पढने के लिए – क्लिक करें

चूहा और बिल्ली हिंदी पोएम |Baccho ki poem

baccho ki poem
baccho ki poem | चूहा और बिल्ली की पोएम |

चूहा बोला बिल्ली से,
क्या तुम आई हो दिल्ली से?
बिल्ली बोली नहीं भाई,
आओ खिलाऊं तुम्हें मिठाई |
चूहा बोला नहीं बहना,
कृप्या मुझसे दूर ही रहना |

25 फलो के नाम | 25 fruits name |

खरगोश पोएम | बच्चो के लिए पोएम

एक जंगल में था खरगोश,
एक दिन हो गया वो बेहोश |
उसे बचाने बंदर आया,
साथ में अपने डॉक्टर लाया।
डॉक्टर ने उसे सुईं लगायी,
तब खरगोश को होश आई |

मछली रानी हिन्दी कविता | Hindi Poem for kids

मछली पानी की महारानी,
चारो ओर है इसके पानी |
इसको है पानी ही भाता,
बाहर ना इससे रहा जाता |
पानी में ही खुश ये रहती ,
पानी से बाहर जिंदा ना रहती |

बच्चो के लिए हिन्दी कहानियां – क्लिक करें

भालू पर पोएम | बच्चो के लिए पोएम

भालू आया भालू आया,
साथ में अपने चूरन लिया |
उसका चूरन बड़ा ही स्वादु ,
जिसको खाते हाथी दादू |
भालू का चूरन शेर को भी भाया ,
ख़ूब मज़े से सबने खाया |

आपको यह पोस्ट केसी लगी निचे कमेंट करके अपनी रायें बताएं और जिस विषय पर आपको पोएम या story चाहिए वह भी आप बता सकते हैं |

बच्चो के लिए हिन्दी कविता | short Hindi poem |

बच्चो के लिए छोटी छोटी कवितायेँ

short Hindi poem | बच्चो के लिए हिन्दी कविता |छोटे बच्चो के लिए हिन्दी कविता | छोटे बच्चो के लिए भालू , गुबारे जेसी छोटी छोटी कवितायेँ जो उनका मनोंरजन करेंगी साथ ही उनको अच्छी सिख भी देंगी | ऐसी ही और हिन्दी कविता पढने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें – हिन्दी पोएम

भालू बन्दर

छोटी सी मोटर के अंदर

आ बेठे भालू -बंदर |

कहते मोटर तेज़ चलाओ |

हमको ठंडी हवा खिलाओ |

गुब्बारा कविता | short Hindi poem |

भैया एक गुब्बारा लाया ,

भर कर हवा उसे फुलाया ,

उछल उछल कर उसे उड़ाया ,

उड़ा गुब्बारा हाथ न आया |

कोयल रानी

कोयल रानी , कोयल रानी

दाना खाकर पीती पानी |

देखो कितना मीठा गाती

सबको दिल को है बहलाती |

अच्छी आदत | बच्चो के लिए छोटी कवितायेँ |

काम सदा समय पर करना

खाना हो या पढना

सुबह जल्दी उठ जाना

और रात को जल्दी सो जाना |

बेंगन राजा

बेंगन राजा , बेंगन राजा

देखो कितना ताजा -ताजा |

सब्जी तेरी बनाएंगे

खाकर गोल मोल हो जायेंगे |

30 Birds name in Hindi & English with pictures-click here

छुट्टी कविता

छुट्टी का दिन आया है ,

सबके मन को भाया है |

आज न पढने जाएँगे ,

दिन भर शोर मचाएंगे |

इस website पर आपको बच्चो के लिए हिन्दी कहानियां , english stories , हिन्दी पोएम , rhyming , आदि बच्चो के लिए सभी तरह की चीज़े लिखी गई हैं | आपको यह पोएम केसी लगी कमेंट करके ज़रूर बताएं | आपको किस तरह की कविता या कहानी चाहिए यह भी हमे कमेंट करके ज़रूर बताएं |


Baccho ki Poem | हिन्दी पोएम

Bacho ki poem

Baccho ki Poem | छोटे बच्चो के लिए बनाई गयी हिन्दी poem | ऐसी बाल कवितायेँ बच्चो को बहुत पसंद आती हैं आपको ऐसी बहुत सारी कविता , कहानी , हमारी website पर मिल जाएँगी | यह website ही बच्चो के लिए बनाई गयी है |

Baccho ki Poem | रेल का कमाल |

काला इंजन डिब्बे लाल,
छुक-छुक करती रेल कमाल |
गाँव-गाँव और शहर-शहर तक,
ठेर -घूम कर सैर कराती |
सर्दी – गरमी या बरसे पानी,
इसने हार कभी न मानी |

For more Poems – Click Here

Baccho ki Poem
Baccho ki Poem

English font

kaala Injan Dibbe lal,
chhuk chhuk krti Rail kamal
Ganv-Ganv aur Shehr-ShehrTak
Thair ghum kar sair krati
Sardi-Garmi ya Barse pani
Isne haar kbhi na maani

सडक सुरक्षा poem | हिन्दी पोएम|

सडक बनी है लम्बी चोडी ,

इस पर जाए मोटर दोडी |

सब बच्चे पटरी पर जाओ ,

बीच सडक पर कभी ना आओ |

आओगे तो दब जाओगे ,

चोट लगेगी पछताओगे |

बच्चो के लिए हास्ये कविता – पढ़ें

English Font

Sadak bani hai Lambi Chhodi

Is par jaye Motor doudi

Sab Bacche patri par jao

Bich Sadak par kbhi na aao

Aaoge to Dab Jaoge

Chhot lgegi Pachtaoge.

| Hindi Poem|

| अपना गाना poem |

पीले-पीले भुट्टे खाओ,
मोटे-तगड़े तुम बन जाओ |
फिर मुझको तुम सैर कराना ,
नहीं चलेगा कोई बहाना |
चंदा हंसकर मारे ताना ,
उसे सुना दो अपना गाना |

hindi poem
Bacho ki poem

English font

Pile Pile Bhutte khao,
Mote Tagde Tum ban jao
Phir mujhko Tum sair krana
Nhi chlega koi bhana
chanda hanskar mare Tana
Use suna do Apna Gana

आपको यह पोस्ट केसी लगी निचे कमेंट करके ज़रूर बताएं साथ ही आपको कोई और poem चाहिए तो कमेंट करके ज़रूर बताएं | हमारे page पर आने के लिए धन्येवाद | education